Gramin Jeevan par Nibandh | ग्रामीण जीवन पर निबंध

By | January 15, 2024

Gramin Jeevan par Nibandh : इस आर्टिकल के माध्यम से आप ग्रामीण जीवन पर निबंध लिख सकते है | प्रस्तावना, सामाजिक व अपनत्व, भारतीय ग्राम, ग्रामीण जीवन की विशेषता, ग्रामीण जीवन की समस्याएँ आदि के बारे में जान पायेंगे |

Gramin Jeevan par Nibandh ग्रामीण जीवन पर निबंध

प्रस्तावना | ग्रामीण जीवन पर निबंध


गाँव का जीवन सादगी भरा होता है | गाँव में रहने वाले लोगों का जीवन बहुत ही साधारण होता है | उनका पूरा जीवन कृषि पर निर्भर करता है | गाँव का शुद्ध वातावरण सभी को पसंद है | लोग अक्सर शहरी जीवन से प्रेषण होकर गाँव का शांत वातारवरण और प्राकृतिक सुंदरता को पसंद करते है |

गाँव में लोग बनावती और दिखावे के जीवन से दूर रहते है | ज्यादातर लोग गाँव में जल्दी उठ जाते है | दिन में शुरुवात से ही लोग अपने दैनिक कार्यों में व्यस्त हो जाते है | गाँव में घरो के पुरुष बहार जाकर काम करते है और औरतें घर संभालती है | गाँव के लोग एक साथ मिलकर रहते है |

गाँव के सभी लोगो के साथ मिल जुलकर त्यौहार मनाते है | गाँव के लोगो में अपनापन ज्यादा होता है और वे सभी व्यक्तियों के इज्जत करते है | गाँव के लोग ज्यादातर एक दुसरे के परिवार के सदस्यों से मेल मिलाप रहते है | गाँव के लोगो के पास ज्यादा धन नहीं होता है , लेकिन फिर भी वह संतुष्टि भरा जीवन व्यतीत करते है |

भारतीय ग्राम


भारत गांवों का देश है | यही की अधिकतर जनसख्या गाँव में रहती है | यहाँ के लोग भारतीय कृषि पर ही निर्भर करते है | सादा जीवन उच्च विचार भारतीय ग्रामों की पहचान है | जब भी मन में भारतीय ग्राम का विचार आता है , तो खेतों में दूर-दूर तक लहलाती हुए हरी भरी फसले, कड़ी धूप और खुले आसमान के नीचे कम करता है |

पेड़ों की ताज़ी हवा, ताजा और शुद्ध दूध, रसायनों से मुक्त ताज़ी-ताज़ी सब्जियाँ, गावों के चौपालों की रौनक आदि चीजें आज भी भारत वासियों को गाँव की ओर खीच ले जाती है | सभी ग्राम वासियों का एक दूसरे के लिए लगाव, उनका एक दूसरे की मदत के लिए सदैव तत्पर रहना गावों की विशेषता है |

ग्रामीण जीवन की विशेषताएँ


शहरी लोग अपने त्योहारों को भूल चुके है लेकिन ग्रामीण लोग आज भी सभी त्योहारों को मनाते है | शहरों के अपेक्षा गाँव में शुद्ध प्राकृतिक वातावरण है | गावों की हवा बिल्कुल शुद्ध होती है | यहाँ ना वाहनों से निकलने वाला धुँआ है, ना ही डीजे का शोर | यहाँ के लोग कूलर, पंखा के बिना ताज़ी हवा लेना पसंद करते है |

ग्रामीण जीवन की समस्याएँ


आज के समय में हर इंसान सुविधा चाहता है और यह सत्य है की गावों में शहरों की अपेक्षा सुविधाएँ नाम मात्र की भी नहीं है | गावों में रहने वाले लोग अपनी हर जरुररत के लिए शहरों पर निर्भर करते है | उन्हें अपनी हर छोटी से छोटी जरुरत के लिए शहर आना पड़ता है, जिसमे उनका समय और पैसा दोनों व्यर्थ जाते है |

गाँव में शिक्षा का आभाव है | शिक्षा विकास का एकमात्र साधन है और वही गाँव में मौजूद नहीं है | गावों में विकास की रफ्तार धीमी है | गाँव में परिवहन के साधनों का अभाव है | यहाँ रोजगार के अवसरों की कमी है | ग्रामीण लडको-लड़कियों में शिक्षा की कमी है | खासकर लड़कियों में शिक्षा की कमी अधिक देखी गई है |

गावों में शहरों की तरह मनोरंजन के साधन जैसे सिनेमाघर, चौपाटी नहीं होते है | गाँव में मौसम की मार से प्रेषण रहते है | वर्षा की बढती अनियमितता का सबसे घर असर कृषि पर ही पड़ता है | लगातार कई वर्षों से वर्षा का स्तर कम होते जा रहा है और इसका असर किसानों पर पड़ता है |

उपसंहार | Gramin Jeevan par Nibandh


ग्रामीण जीवन बड़ा ही सुन्दर और प्रकृति की सादगी से जुड़ा हुआ होता है | देश की सुंदरता गाँव से ही होती है | सरकार को अपनी तरफ से और अधिक योजनाएं बनानी चाहिए, ताकि गाँव की जिंदगी बेहतर हो सके| सारी सुविधाओं में भी शहरों की तरह लागू करना चाहिए |

शहरी जीवन पर निबंध

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *