मकान मालिक और किरायेदार सम्बन्धी पत्र | landlord and tenant related letter

By | April 28, 2024

अगर आप मकान मालिक है या किरायदार और मकान मालिक और किरायेदार सम्बन्धी पत्र ( landlord and tenant related letter) लिखना चाहतेहै तो इस आर्टिकल के माध्यम से आसानी से लिख सकते है |

मकान मालिक और किरायेदार सम्बन्धी पत्र landlord and tenant related letter

मकान मालिक द्वारा अपनी सम्पत्ति किरायेदार को किराए पर देने के लिए दोनों व्यक्तियों के बीच समझौता होता है। मकान मालिक जो अपनी सम्पत्ति का मालिक होता है वह किरायेदार को शुल्क के साथ अपनी सम्पत्ति का प्रयोग करने की अनुमति देता है। मकान मालिक और किरायेदार के बीच एक समझौता भी होता है, जिसके अनुसार किरायेदार को निश्चित तिथि तक अपने किराए का भुगतान करने का वर्णन तथा कुछ अन्य शर्तों का भी उल्लेख होता है।

मकान मालिक और किरायेदार के बीच सवार का अनुबन्ध कानून के तहत भी हो सकता है। एक अन्य महत्त्वपूर्ण बात कहीच्च कि किरायेदार यदि किराए की अवधि के दौरान स्थानान्तरित करने के लिए योजना बना रहा है तो किरायेदार मकान मालिक को कम-से-कम एक महीने का लिखित बाटिस अवश्य दें। दूसरी ओर मकान मालिक का भी कर्तव्य है कि यदि परिस्थितियोवश वह अपने मकान को खाली करवाना चाहता है तो उसे भी कुछ समय पूर्व किरायेदार को नोटिस देना चाहिए।

समय-समय पर मकान मालिक और किरायेदार द्वारा किराए के भुगतान, भुगतान में देरी, किराए में बढ़ोतरी, मकान खाली करवाने, मकान में उत्पन्न हो रही असुविधा वे समस्या से अवगत कराने हेतु मकान मालिक व किरायेदार के बीच पत्र-व्यवहारिक्षात है। मकान मालिक व किरायेदार सम्बन्धी कुछ पत्रों के उदाहरण दिए गए हैं|

इस महीने किराए का भुगतान देर से करने के लिए किरायेदार को पत्र लिखिए।


42/A अशोक बिहार,
नई दिल्ली।
दिनांक 17 अगस्त, 2024

42/A प्रथम मंज़िल,
अशोक विहार,
नई दिल्ली।

विषय : किराए के भुगतान की अक्षमता होने के कारण माफ़ी के सम्बन्ध में।

मान्यवर,
मैं क्षमा याचना के साथ आपको यह बताना चाहता हूँ कि कुछ अप्रत्याशित कठिनाइयों के कारण में इस महीने की निर्धारित तारीख को किराए का भुगतान करने में असक्षम हूँ। हालाँकि, मैं किराए के भुगतान हेतु एक चेक इस पत्र के साथ संलग्न कर रहा हूँ। मुझे आशा है कि एक सज्जन की भाँति आप मेरे अनुरोध को अवश्य स्वीकार करेंगे। इस असुविधा के लिए मुझे खेद है।

आपको अग्रिम धन्यवाद।

आपका विश्वसनीय
रोहित (किरायेदार)


किराए में बढ़ोतरी करने के सम्बन्ध में मकान मालिक द्वारा किरायेदार एक पत्र लिखिए। landlord and tenant related letter


22, अन्सारी रोड,
नई दिल्ली
दिनांक 15 फरवरी, 2024

विषय : गृह कर (हाउस टैक्स) में बढ़ोतरी होने के कारण किराए में वृद्धि हेतु।

मान्यवर,
जैसा कि आप जानते हैं कि नगर निगम के अधिकारियों ने गृह कर (हाउस टैक्स) में बढ़ोतरी कर दी है। इस प्रकार मैं आपके द्वारा प्रयोग में लाए जा रहे आनुपातिक घर का किराया बढ़ाने हेतु विवश हूँ।

आशा है कि आप किराए में उचित परिवर्तन करने के लिए सहमत होंगे और आले महीने से ₹ 2500 की बढ़ोतरी के साथ अपने किराए का भुगतान करेंगे।

शुभकामनाओं सहित।
आपका विश्वसनीय
अशोक


ऊपर के जवाब के सम्बन्ध में किरायेदार द्वारा पत्र


एच-1/136 सेकटर-9
द्वारका।

दिनांक : 22 फरवरी, 2024

विषय : किराए में की गई बढ़ोतरी पर आपत्ति हेतु ।

श्रीमान्, मुझे आपका दिनांक 15 फरवरी, 2024 को घर के किराए में आनुपातिक वृद्धि करने के सम्बन्ध में पत्र प्राप्त हुआ। जैसा कि आप जानते हैं कि मेरे द्वारा घर का केवल आधा भाग ही प्रयोग में लाया जाता है|


इसलिए मैं गृह कर के ₹ 2500 के परिवर्तन एवं बढ़ोतरी के खिलाफ़ हूँ तथा मैं अपनी आनुपातिक हिस्सेदारी ₹ 1275 देने में सहमत हूँ। मुझे आशा है कि आप मेरी बातों पर ध्यान देते हुए किराए में बढ़ोतरी के सम्बन्ध में सही बदलाव के लिए विचार करेंगे।

धन्यवाद सहित।

आपका विश्वसनीय
रोहित कुमार


आशा करते हूँ कि आप इस आर्टिकल के माध्यम से मकान मालिक और किरायेदार सम्बन्धी पत्र ( landlord and tenant related letter) लिख सकते है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *